दोस्तों, क्या आप भी जानना चाहते हैं की ipo me invest kaise kare? आईपीओ में इन्वेस्ट करना बहुत मुश्किल नहीं है लेकिन नए इन्वेस्टर्स के लिए यह थोड़ा मुश्किल का topic हो सकता है। ज्यादातर नए इन्वेस्टर्स ऐसे terms से अनजान रहते हैं जिसके कारण उन्हें loss सहना पड़ता है।

भारत में ज्यादातर लोग बैंकिंग के सेक्टर की थोड़ी बहुत जानकारी तो रखते हैं लेकिन उन्हें mutual fund, स्टॉक्स, आईपीओ, शेयर मार्केट के बारे में बहुत ज्यादा पता नहीं होता है। IPO भी एक ऐसा ही इन्वेस्टमेंट की दुनिया में term है जो ज्यादातर लोगों को इसकी सही जानकारी नहीं है। जिसको इसके बारे में कुछ जानकारी होती है वो भी सही तरीके से इसमें invest करना नहीं जानता है।

दोस्तों, आज के पोस्ट में हम आपको IPO के बारे में सभी जानकारी आसान भाषा में समझाने की कोशिश करेंगे। जैसे ipo kaise bhareipo kaise kharide etc। सबसे पहले जानते है ipo क्या होता है।

IPO kya hai?

दोस्तों, IPO का पूरा नाम Initial Public Offering है, जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा है कि यह पब्लिक को शुरुआत में कुछ ऑफर करने की बात कर रहा है।

जब कंपनी पहली बार अपने स्टॉक या शेयर को स्टॉक मार्केट में आम जनता को खरीदने के लिए उतारती है तो उसे Initial Public Offering कहते हैं। यह हमेशा ही नई कंपनी की तरफ से किया जाता है, जिसने पहले कभी भी अपनी कंपनी के स्टॉक को मार्केट में खरीदने के लिए ना offer किया हो।

कोई भी PVT LTD company या ऑर्गेनाइजेशन अपने stock को मार्केट में इसलिए उतारती है ताकि वह शेयर मार्केट में register हो जाए। जब कंपनी शेयर मार्केट में उतर जाती है तब उसके साथ बहुत से लोग स्टॉक या शेयर खरीद कर जुड़ जाते हैं, जिससे कंपनी की अच्छी खासी funding हो जाती है।

और इस fund का इस्तेमाल कंपनी अपने तरक्की में करती है। किसी भी कंपनी द्वारा आईपीओ लाना उसके लिए बहुत फायदे का सौदा होता है जो हम आगे के पैराग्राफ में बताएंगे।

IPO क्यों लाया जाता है?

दोस्तों, IPO का सीधा सीधा मतलब यह होता है कि जनता आपके कंपनी के ऊपर trust कर के उस पर पैसा लगाए। कंपनी का सबसे पहला aim यही होता है कि, ज्यादा से ज्यादा लोक उसका शेयर खरीदें।

जब लोग कंपनी में शेयर खरीदेंगे या इन्वेस्ट करेंगे तो कंपनी को इस से पैसा मिलता है जिससे वह अपने आगे के plan को successful बनाते हैं। Share market में उतर कर ज्यादातर कंपनी अपने बिजनेस को expand करना चाहती है।

जब किसी भी कंपनी के पास पैसे या पूंजी की कमी होती है तो वह indirect way में public से पैसा चाहती है। ऐसे में अगर कोई कंपनी के शेयर में इन्वेस्ट करता है तो वह कंपनी को एक तरीके से पैसा ही दे रहा है।

कोई भी कंपनी अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए या तो बैंक से लोन लेती है या फिर शेयर मार्केट में अपना शेयर उतारती है। आज के समय में बैंक के heavy interest rate से बचने के लिए कंपनी शेयर मार्केट में आईपीओ देना ज्यादा easy मानती है।

अगर कंपनी IPO के जरिये fund जमा करती है, तो उसे ना ही किसी से पैसे लेने होते है और ना ही किसी तरह का ब्याज देना होता है। दोस्तों, जब कोई कंपनी ज्यादा कर्ज में होती है तो ऐसे समय में भी कंपनी IPO जारी करती है।

इसके अलावा अगर कोई कंपनी नए प्रोडक्ट्स और service launch करना चाहती है, तो उसका promotion और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक प्रोडक्ट पहुँचाने के लिए भी कंपनी आईपीओ जारी करती है।

Also Read:

Share market में Account कैसे खोले 2021 । ट्रेडिंग अकाउंट कैसे खोलें 2021

शेयर मार्केट में पैसा कैसे लगाएं [रोज Rs.5,000 कमाए ]

Trading se से पैसे कैसे कमाए (1 दिन मे पैसा double करे)

IPO kaise allotment hota hai?

दोस्तों, भारत में किसी भी कंपनी के share को publically allot करने के लिए SEBI (Securities and Exchange Board of India) एक गवर्नमेंट regulatory है जो उस कंपनी के credentials की जांच पड़ताल करते हैं। किसी भी कंपनी के ipo लाने के लिए SEBI सबसे पहले कंपनी की अच्छी तरीके से जांच करती है ताकि जनता के साथ किसी भी प्रकार का धोखा ना हो सके।

कंपनी को अपनी सभी जानकारी SEBI को सही-सही बतानी होती है, कंपनी अपनी net worth, tax returns, funding, profit जैसे सभी जरूरी जानकारी SEBI को देती है। SEBI इस बात की जांच भी हमेशा करवाती रहती है कि कंपनी आईपीओ देने के लिए capable है भी या नही। कंपनी द्वारा दिए गए किसी भी गलत info से उनका आईपीओ रुक सकता है।

दोस्तों, किसी भी कंपनी के IPO को list करके Allot होने के कुछ steps होते है।

1. सबसे पहले IPO open होने के बाद कोई भी व्यक्ती उसके लिए apply कर सकता है।

2. IPO खुलने के 3 से 5 दिन बाद उसकी closing आती है और इस दिन मार्केट बंद होने से पहले आप इसके लिए apply कर सकते है।

3. उसके बाद IPO Allotment के दिन आप अपना status चेक करके देख सकते है की आपको आईपीओ Allot हुआ की नही।

4. अगर आपको IPO अल्लोट नही होता है, तो उसके अगले दिन आपको आपके पैसे Refund किये जाते है।

5. अगर आपको IPO अल्लोट होता है तो फिर आपको actual में Shares की delivery की जाती है। और ये शेयर्स आपके demat account में आ जाते है।

6. उसके बाद stock market में IPO की listing होती है और उसकी price दिखाई देती है।

IPO मे Invest कैसे करे?

दोस्तों, IPO में पैसा कैसे लगाए अगर आपने शेयर मार्केट को अभी अभी सीखा है और आप आईपीओ में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो हम आपको बता देगी आईपीओ में पैसा लगाना आपके लिए थोड़ा riskey हो सकता है।

जैसा कि हमने आपको बताया कि आईपीओ हमेशा ही नई कंपनी के द्वारा लाया जाता है ऐसे में नई कंपनी के ऊपर पैसा लगाना किसी जुए से कम नहीं होता है। आपको कंपनी के बारे में कोई जानकारी नहीं होती है कि यह शेयर मार्केट में कैसा इसका ग्राफ रहेगा, इसीलिए अगर आप शुरुआती इन्वेस्टर है तो आईपीओ से दूर रहे तो ही बेहतर है। 

दोस्तों, कई बार ऐसा भी होता है कि premature investers भी ipo में पैसा लगाकर खूब सारा profit कमा लेते हैं। लेकिन कम जानकारी के साथ इन्वेस्टमेंट थोड़ा खतरे से भरा होता है।

अगर आपको शेयर मार्केट में कुछ महीने या साल का experience है तो आप हमेशा ही नई कंपनी के ऊपर नजर रखें तथा मार्केट में उस कंपनी के बारे में अच्छी रिसर्च करके पैसा जरूर लगाएं। पैसा लगाने से पहले एक अच्छा broker चुने और rating agencies पर जरूर ध्यान दें।

IPO में पैसा लगाने से पहले आपको कंपनी का जनता के बीच में क्या response है और मार्केट में उस प्रोडक्ट की क्या value है इन सब चीजों को analyse करना चाहिए तब आप आईपीओ में पैसा लगा सकते हैं।

नए investors हमेशा जुवा खेलते हुए एक ही समय पर ढेर सारी कंपनी में पैसा लगाते हैं जो गलत है आपको एक या दो ही कंपनी पर research करके पैसा लगाना चाहिए। IPO मैं पैसा लगाने से पहले आप experts review, public response, market growth जैसे डाटा के बारे में अच्छी तरीके से जान कर पैसा लगा सकते हैं।

IPO ka kya labh hai?

दोस्तों, आईपीओ ना सिर्फ जनता के लिए पैसा कमाने का मौका होता है बल्कि किसी भी कंपनी के लिए भी यह ढेर सारा पैसा इकट्ठा करके अच्छी जगह invest करने का मौका देता है।

IPO मार्केट में ला के ही आज के समय में कई नई कंपनी अपने बिजनेस के infrastructure, growth, employers hiring में ज्यादा पैसा लगा रहे हैं जिससे उनका बिजनेस कई गुना बढ़ जा रहा है। बैंक में लोन लेने से अच्छा है कि अच्छी ipo जनता को दी जाए।

आईपीओ में लगाए गए सभी पैसे डायरेक्ट parent company के पास जाता है जिस पर सरकार किसी तरह का चार्ज नहीं काटता है, ऐसे में आपका पूरा लगाया हुआ पैसा इन्वेस्ट होता है।

एक बार जब कंपनी के शेयर को trade करने की सरकार द्वारा परमिशन मिल जाती है तब जितना भी लाभ या घाटा होगा, उसके लिए investors खुद ही जिम्मेदार होंगे। अगर कंपनी को घाटा हुआ तो आपका ही पैसा डूबेगा वहीं अगर कंपनी प्रॉफिट में आती है तो आपको बराबर की हिस्सेदारी मिलेगी।

दोस्तों, आज के समय में ज्यादातर आईपीओ में वही कंपनी आ रही है जो पहले से ही Multubillaniore या multinational company होती हैं। ऐसे मे आपको किसी भी प्रकार के धोखा होने के चांसेस बिलकुल नही है। सरकार SEBI के द्वारा कंपनी पर नजर रखती है जिससे कंपनी आपके साथ किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी नहीं कर पाएगा।

Note-: हमारे द्वारा दी गई जानकारी exact recommendation नहीं है यह केवल एक सही info है जो आपको आईपीओ के बारे में सभी जानकारी बता रहा है।

Also Read:

Intraday me Paise Kaise Kamaye 2021 । Daily 2000 रुपए कमाए

Olymp Trade kya hai? और Olymp trade se Paise kaise kamaye?

India VIX क्या है?

Conclusion:

दोस्तों, IPO आज के समय में पब्लिक और कंपनी दोनों को पैसा बनाने के लिए एक बहुत ही अच्छा मौका है। आईपीओ में पैसा लगाकर आप अच्छा रिटर्न कमा सकते हैं। किसी भी कंपनी में आईपीओ के माध्यम से पैसा लगाने से पहले आपको अच्छी research और analysis जरुर करनी चाहिए।

अगर आपको ये पोस्ट ipo me invest kaise kare अच्छी और informative लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें।

Thank You

join telegram 10earnmoney
Click to join Telegram Channel