दोस्तों, Business Karna Kaise Sikhe? ये सवाल सभी के मन में आता है। तो आज हम इसी के बारे में चर्चा करने वाले हैं। बिजनेस को शुरू करने के Ideas तो हम आसानी से ले सकते हैं। मगर बिजनेस शुरू करने से पहले कि ऐसी भी बातें हैं जो हमें ध्यान में लेनी चाहिए।

क्योंकि सिर्फ दुसरो के मंतव्य से या फिर अपने ही अनुमान से अगर हम कोई व्यवसाय शुरू करते हैं तो कि बार हमें फायदा तो दूर की बात है मगर सिर्फ नुकसान ही होता है। 

Business करना कैसे सीखे

किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले उस बिजनेस की बारीकियों को ओर उसके हर अच्छे बुरे परिणाम, मार्केट की परिस्थिति, आपका बजट और व्यवसाय नये प्रयोग करना इन सभी बातों को समझना बेहद जरूरी है।

चलिए आज हम आपको Business Karne Ke Tarike बताएंगे और साथ ही बिजनेस के बारे में कुछ Ideas देंगे  जो आपके लिए बहुत ही उपयोगी साबित होंगे।

1) गवर्मेंट डोक्युमेंट 

दोस्तों सबसे पहले तो आपको आपके सारे सरकारी कागजात को इकट्ठा करना चाहिए। जैसे कि पेनकार्ड, आधारकार्ड, लाइटबिल या फिर अन्य। कोई भी बिजनेस को शुरू करने से पहले आप उस बिजनेस का रजिस्ट्रेशन जरूर ही करवाएं।

इस प्रक्रिया में आपको कुछ दस्तावेज का ऐफीडेविट भी करवाना पड सकता हैं। कई बार आपको बैंक डिटेल्स भी देनी पड़ती है। फिर भी अगर एक बार रजिस्ट्रेशन हो जाता है तो आप निश्चित रूप से अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।

2) बिजनेस के हर पहलू को जरूर समझ लें

कोई भी व्यवसाय छोटा हो या बड़ा मगर उसे शुरू करने से पहले हमें कई बातों का ख्याल रखना जरूरी है। क्योंकि कइ बार छोटी सी गलती भी बिजनेस को बहुत बड़ा नुकसान पहुंचा सकती है।

इसलिए किसी भी व्यापार को शुरू करने से पहले उस व्यापार के आप उस व्यवसाय के हर पहलू की जांच परख जरूर कर लें क्योंकि किसी भी तरह के व्यवसाय में जल्दीबाजी में लिए गए फैसले एक बड़ी ही समस्या का कारण भी बन सकते हैं।

अगर आप कोई भी प्लानिंग किए बिना ही बिजनेस शुरू करते हो तो कई बार आपको असफलता का सामना करना पड़ सकता है और बिजनेस में असफलता का अर्थ यह है कि अपने आप को और परिवारवालों को नई मुसीबत में डालना.

क्योंकि यह बात तो साफ है कि अगर बिजनेस में नुकसान होने से आपकी आमदनी जीरो हो सकती है।

3) अपने रुचि अनुसार बिजनेस करें

अगर आप Business करना चाहते हैं तो व्यवसाय का वही तरीका चुने जिसमें आपकी रुची हैं। तभी आप उस बिजनेस को अच्छी तरह से कर पाएंगें और आगे भी बढ़ा पाएंगें।  

4) बिजनेस शुरु करने से पहले प्लानिंग करें

व्यवसाय चाहे कोइ भी हो मगर उसे बहेतर प्लानिंग के साथ शुरू किया जाए तो आप बहुत ही कम समय में अपने लक्ष्य को पा सकते हैं और सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

किसी नए व्यवसाय को शुरू करने के लिए सबसे पहली और सबसे अहम चीज होती है वो है प्लानिगं, प्लानिंग का मतलब यह है कि आप कौन सा बिजनेस करना चाहते है ये तय करें।

इस बात को भी हर तरह से निश्चत करें कि बिजनेस में आपका कितना बजेट है यानी की कितना पैसा इन्वेस्ट करने के लिए आप सक्षम है। 

5) अपने बिजनेस के प्रति समर्पित रहे

अगर आप अपने बिजनेस को सफलता के मकाम तक ले जाना चाहते हैं तो सबसे आवश्यक बात यह है कि आप आप अपने बिजनेस के प्रति संपूर्ण समर्पित रहे और प्रयासरत रहे कि किस तरह से आपके बिजनेस को और बेहतर बनाया जा सकता है।

अगर आप समर्पित भाव से काम करेंगे तभी आप अपने स्टाफ को भी इसके लिए तैयार कर सकते है, लेकिन अगर आपने ही लापरवाह हो गये तो फिर आपका स्टाफ भी लापरवाह बन जाता है जिसकी वजह से आपको बिजनेस नुकसान का सामना करना पड़ सकता है।

6) बिजनेस शुरु करने के लिए बजट

कोई भी बिजनेस को शुरु करने से पहले सबसे ज्यादा फोकस Finance Management पर करिए क्योंकि बिजनेस चाहे छोटा हो या फिर बड़ा उसके लिए पैसा बेहद जरूरी है इसलिए पहले इस बात को य् तय कर लें कि ऐसे कौन से पहेलू है जहां आप अपने खर्चे को कम कर सकते हैं और रेवेन्यू को बढ़ा सकते हैं।

7) अपने स्टाफ को सम्मान दे

किसी भी व्यवसाय में सफलता हासिल करने का एक ओर नियम यह है कि आप अपने व्यवसाय से जुड़े सभी ही छोटे बड़े कर्मचारियों के साथ आदरपूर्ण व्यवहार रखें। कभी छोटे मोटे उपहार देकर तो कभी छोटा सा गेट टू गेघर रख कर अपने स्टाफ के साथ एक परिवार जैसा माहौल बनाइये।

इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि अगर आपका स्टाफ आपसे खुश है तो वह पूरी लगन से आपके साथ काम करेंगे। लेकिन अगर आप उनके साथ बुरा व्यवहार करेगे तब वो ठीक से काम नही करेंगे जिससे आपका ही नुकसान होगा।

इसके अलावा अपने स्टाफ समय समय पर तारीफ करके उन्हें उत्साहित भी करते रहिए जिससे वो दुगनी लगन और उमंग के साथ काम कर सके।

8) स्टाफ से चर्चा करते रहिए

कोई भी व्यवसाय को सफल बनाने के लिए यह एक जरूरी बात है कि आपका वार्तालाप आपके स्टाफ के साथ किस तरह का है। अपने स्टाफ को व्यवसाय से जुड़ी नई बातो की जानकारी देते रहना चाहिए।

और साथ ही अपने स्टाफ से बिजनेस के टॉपिक पर चर्चा कीजिये ताकि नये आईडिया निकले और बिजनेस और बढाने में आपको मदद मिले।

Also Read,

9) खुद को अपडेट रखें

बिजनेस को लेकर खुद को और अपने स्टाफ को भी अपडेट रखें। मतलब यह है कि फिलहाल मार्केट में हर दिन हर नई चीज ट्रेंड कर रहीं हैं।

अगर आप और आपका स्टाफ अपटुडेट होगा तो आप भी नये नये आइडियाज और नया पेकिंग या फिर अन्य कोई भी ट्रेंड कर रही मेटर को अपने बिजनेस में इस्तेमाल कर पाएंगे। साथ ही आपको इस बात का भी ख्याल रखना होगा कि मार्केट में कौन-कौन सी चीजों की अधिक डिमांड है।किन चीजों पर कोम्पीटीशन है।

10) फाइनेंसेज को मैनेज रखें

Business की शुरूआत करना  वाकई में बडी बात है। बिजनेस को सफलता पूर्वक चलाने के लिए आपको समय-समय पर अलग-अलग काम भी करने पड़ते हैं। ऐसे में इन सबके साथ डील करना कभी कभी मुश्किल हो जाता है।

लेकिन अगर आप अपने बिजनेस से फायदा हासिल नहीं कर रहे हैं तो वह एक शौक ही रह जाएगा। अपने बिजनेस के सभी फाइनेंसेज को सही तरह से मैनेज करके आप अपने बिजनेस को सफल बनाने में कामयाब हो सकते हैं और अपने  गोल्स को भी आसानी से हासिल कर सकते हैं।

फाइनेंसेज मेनेज करने का दूसरा फायदा यह है कि आप मार्केट में लंबे समय तक एक्टिव रह सकते हैं और अपने लक्ष्य को भी पा सकते हैं।

अगर आप बिजनेस फाइनेंसेज को मैनेज को सिरियस नहीं लेते तो इस परिस्थिति में आप खुद ही अपने बिजनेस की असफलताओं के जिम्मेदार रहेंगे।

इसलिए फाइनेंसेज को मेनेज रखना बेहद ही जरूरी हैं। पर्सनल फाइनेंसेज की जैसे ही आप बिजनेस फाइनेंसेज को भी मैनेज कर सकते हैं।

11) अपने बिजनेस की सुरक्षा का ख्याल रखें

हर एक व्यवसायिक माध्यम को सुरक्षा की जरूरत होती है। इस लिए आपको अपने बिजनेस के लिए इंश्योरेंस जरूर करवाना चाहिए।

इंश्योरेंस का दुसरा फायदा यह है कि आप अपने बिजनेस की अलग पहचान बनाने में कामयाब हो पाते हैं और बिजनेस फाइनेंसेज को निजी यानी की आपके पर्सनल फाइनेंसेज से अलग भी रख पाते हैं।

अगर आप कुछ ऐसा सोचते है हैं कि कुछ फाइनेंशल इशू जो आपके व्यवसाय पर असर करते हैं, उनसे आपकी निजी संपत्ति पर कोई भी प्रभाव न पड़े तो आपको अपने बिजनेस को सुरक्षित  करना बेहद जरूरी होता है।

इसलिए आप अपने बिजनेस फाइनेंसेज को मेनेज कर पाते हैं और अपने बिजनेस को मुश्किल वक्त में सुरक्षित भी रख पाते हैं।

भुगतान व्यापारी यही चाहते हैं कि उनके पास भुगतान की रकम आने का तरीका आसान बने। इस बात का अमल करने के लिए सबसे पहले आपको यह निश्चित करना होगा कि आप पेमेंट्स किस प्रकार लेंगे।

यह निर्णय इस बात पर डिपेंड करता है कि आपका व्यवसाय कैसे काम करता है। भुगतान के तरीकों को आसान बनाकर आप बिजनेस के छोटे फाइनेंसेज को सही तौर पर मैनेज कर पाएंगे और अपने बिजनेस को सफलता पूर्वक आगे बढ़ा सकेंगे।

बिजनेस के छोटे फाइनेंसेज को व्यवस्थित रखने के लिए आपको अपने समय को शेड्यूल करना पड़ेगा और बिजनेस फाइनेंसेज को नियमित रूप से देखना होगा।

आपकी कमाई और खर्चे बदलते रहेंगे इसलिए बेहतर रहेगा कि आप सभी चीजों को समय-समय पर चेक करते रहें और सभी चीजों की अपडेट रखें। अपने Calendar में एक साप्ताहिक फाइनेंस मीटिंग जोड़ लें ताकि आप व्यवस्थित रहें और किसी चीज में पिछड़ें नहीं।

Also Read,

Apne Business Ko Online Kaise Kare पूरी जानकारी 

[10+ New]  ज्यादा पैसे कमाने वाला Business 

No.1 Vestige Business Plan in Hindi 2021 

12) समय नियोजन

आपके बिजनेस के छोटे फाइनेंसेज को मेनेज रखने के लिए आपको  समय को भी शेड्यूल करना पड़ेगा और बिजनेस के हर एक फाइनेंसेज को नियमित रूप से जांचना पड़ेगा। आपकी आमदनी और खर्च में हर दिन बदलाव होते ही रहेंगे.

इसलिए आपके बिजनेस के लिए यही बेहतर होगा कि आप सभी चीजों को समय-समय पर जांचते रहें और बिजनेस की सभी चीजों को भी अपडेट रखें।

Conclusion:

अपने कैलेंडर में भी नोट लिखा करें ताकि आपको हर बात याद रहें और कोई भी चीज छूट न जाए।

मुझे उम्मीद है कि आपको ये article Business Karna Kaise Sikhe अच्छा लगा होगा। इस article में आपको Business Karne Ke Rules के Rules पता चल गए होंगे। अगर आपको इससे कुछ सिखने का मौका मिला है तो आप इसको अपने Friends के साथ share कर सकते हैं।