Successful Business Plan kaise banaye [2020]

दोस्तों, Business Plan kaise banaye? अगर आप भी कोई नया बिज़नस शुरू करना चाहते है, तो ऐसा सवाल आपके मन में जरुर आया होगा।

किसी भी बिजनेस को सक्सेसफुल बनाने के लिए उसका draft यानी कि business plan in hindi pdf पहले से बनाना बहुत जरूरी होता है। आप किसी भी बिजनेस को बिना pre planning के नहीं स्टार्ट कर सकते।

Business plan एक तरह का blueprint होता है जिसमें कंपनी के Goal, general info, future planning जैसी चीजों का लेखा-जोखा होता है। बिजनेस प्लान किसी भी बिजनेस को grow करने के लिए बहुत जरूरी होता है।

बिजनेस में Loan, Partnership और funding को पाने के लिए business planning बहुत ही ज्यादा जरूरी होती है। बिजनेस प्लान को आप लोगों को दिखाकर उन्हें अपने साथ जोड़ सकते हैं। 

आखिरकार Business Plan Kaise Banaye ? अगर आपके मन में भी यह सवाल है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें जिससे आप एक अच्छा बिजनेस प्लान बनाकर बिजनेस में सक्सेसफुल हो सकते हैं। 

Business Plan Kya Hai ?

Business Plan जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि किसी भी Business को करने के लिए की गयी planning को ही बिजनेस प्लान कहते हैं। किसी भी कंपनी का बिजनेस प्लान देखकर ही उस कंपनी के way of working और strategy के बारे में पता लगाया जा सकता है।

किसी भी कंपनी का एक Certain interval में काम करने का तरीक़ा होता है जिसे बिजनेस प्लान में ही बनाया जाता है। टाइम के हिसाब से बिजनेस प्लान चेंज भी होते रहते हैं इसीलिए बिजनेस प्लान कभी भी परमानेंट नहीं होता। 

बैंक भी कंपनी के बिजनेस प्लान को अच्छी तरह से समझते हैं और इसे credential मानते हैं। Loan लेने के लिए आपको बैंक में बिजनेस प्लान जमा करना पड़ता है।

अगर आप किसी कंपनी से tie up या partnership करना चाहते हैं तो आपको कंपनी के बिजनेस प्लान को अच्छी तरीके से समझ लेना चाहिए।

Business Plan Kaise Banaye ?

बिजनेस प्लान बनाने के लिए आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होता है, और इसे बहुत सोच समझ कर करना चाहिए। बिजनेस प्लान को बनाने के लिए well research और market planning करनी होती है।

नीचे हमने आपको एक सक्सेसफुल business plan बनाने की प्रोसीजर के बारे में बताया है। एक अच्छे बिजनेस प्लान को बनाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान रखना चाहिए-:

– Business का ultimate moto क्या है?

– Business करने के लिए target audience कोनसी है?

– बिजनेस का investment level क्या है?

– Business का कंपटीशन स्टेटस क्या है?

– Business revenue के source और basics क्या है?

एक सक्सेसफुल बिजनेस प्लान इन बातो को अच्छी तरह से एनालाइज कर के बनाया जा सकता है। Business Plan Format को बनाने के लिए कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होता है जो हम आगे इस पोस्ट में बताएंगे।

Steps to make a Successful Business Plan

1. Business goal/ Description/ Layout

Business goal का मतलब बिजनेस के उद्देश्य या टारगेट से होता है जो आपके बिजनेस की purpose को बताता है। एक अच्छे बिजनेस प्लान में business description पर खास ध्यान दिया जाता है क्योंकि इसी के बेसिस पर कंपनी के काम करने के तौर-तरीकों के बारे में पता लगाया जा सकता है। 

Business Layout को हाइलाइटेड किया जाता है ताकि क्लाइंट का ध्यान इस पर जा सके। किसी भी कंपनी का Collaboration उसके बिजनेस लेआउट या description पर डिपेंड करता है।

कोई भी कंपनी अपना बिजनेस प्लान बनवाते समय बिजनेस गोल को अच्छे से डिजाइन करवाती है। कंपनी हर साल या हर महीने कुछ ना कुछ target रखती है जिसको achieve करने के लिए कंपनी काम करती है।

Business goal ही कंपनी को कंपनी के अंदर और इसके काम करने के तरीके में changes लाने के लिए inspire करती है। किसी भी कंपनी का layout तैयार करते वक्त investors के interest को ध्यान में रखा जाता है। इसको बनाने के लिए बड़ी कंपनियां business advisor को hire करती हैं।

 2. Supply and demand

एक कॉम्पटेटिव मार्केट में supply and demand की बहुत importance होती है। एक बिजनेस प्लान को सक्सेसफुल बनाने के लिए मार्केट में सप्लाई और डिमांड बराबर होना चाहिए। आइए समझते हैं कि Supply और Demand का क्या मतलब होता है।

Supply :-  एक फिक्स amount के माल को मार्केट में जिस Price पर available कराया जाता है, उसे मार्केट की भाषा में सप्लाई कहा जाता है। 

Demand :-  किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस के लिए कस्टमर कितने ज्यादा इंटरेस्टेड हैं और मार्केट में उसकी क्या मांग है, इसे डिमांड कहते हैं।

Business Plan बनाते समय सप्लाई और डिमांड का एवरेज निकालना होता है। Supply and Demand एक दूसरे के उल्टे यानी कि inversally proportional होते हैं।

इसका सीधा सीधा मतलब ये होता है कि अगर मार्केट में सप्लाई बढ़ेगी तो डिमांड घटेगी, और अगर सप्लाई घटेगी तो डिमांड बढ़ेगी।

Ex– आलू के सीजन में आलू का दाम घट जाता है क्योंकि उस समय सप्लाई बहुत ज्यादा हो जाती है। वही जब आलू cold storage में चला जाता है तो मार्केट में आलू की सप्लाई में कमी हो जाती है, इसलिए आलू का दाम बढ़ जाता है।

Same, यही लॉजिक छोटे बड़े हर एक बिजनेस में लगता है। इसीलिए हर एक बिजनेस प्लान में सप्लाई और डिमांड के proportion को बराबर रखा जाता है।

3. Competitive Analysis

किसी भी बिजनेस को मार्केट में स्टैंड करने के लिए आपको मार्केट की Competitive Analysis करनी पड़ती है। जब आप मार्केट के कंपटीशन को अच्छी तरह से समझ लेंगे तो आप अपने Business Plan में जरूरी changes कर सकते हैं।

हम सब ने मार्केट के अंदर कंपटीशन की बात को सुना होगा, आज के मार्केट में किसी भी प्रोडक्ट को सस्ते से सस्ते में बेचकर ज्यादा customer बुलाने की कोशिश की जाती है। किसी भी बिजनेस को प्लान करते वक्त आपको उस बिजनेस की मार्केट Competition को study करना होता है।

Competitive Analysis में आपको नीचे दी गई बातों पर ध्यान देना होता है-:

– आपका Product या Service मार्केट में किस रेट पर मिल रहा है?

– आपके Business Sphere में कितने business man पहले से उस बिजनेस में हैं?

– आपके प्रोडक्ट की डिमांड किस टाइम सबसे ज्यादा रहती है?

– क्या आपका प्रोडक्ट ऑनलाइन अवेलेबल है और इसका Price क्या है?

Market में सबसे अच्छा बिजनेस कौन कर रहा है और उसकी खास बातें क्या है?

अगर ऊपर दिए गए बातों को ध्यान में रखते हुए आपने अपने Business Plan को डिजाइन किया तो आप पहले ही प्रयास में सफल हो सकते हैं। मार्केट की पकड़ जिसकी जितनी अच्छी होगी  उसको बिजनेस में उतना ही प्रॉफिट होगा। 

अगर आप Competitive Analysis कराने के बाद अपने प्रोडक्ट को सबसे सस्ते दाम पर नहीं बेच सकते तो आपको अपनी Quality पर ज्यादा ध्यान देना होगा। बिजनेस में money over quality का फंडा चलता है, इसलिए अगर क्वालिटी अच्छी है तो कस्टमर price की चिंता नहीं करते है।

Also Read,

4. Research and development

Research and development किसी भी बिजनेस प्लान का सबसे Important Aspect होता है। हर एक कंपनी Innovation, Science और Technology की हेल्प से अपने बिजनेस प्लान में रिसर्च करके डेवलपमेंट करती है। Business plan में इसको R&D कहते हैं। 

R&D इसलिए किया जाता है ताकि मार्केट में नए प्रोडक्ट को create या launch किया जा सके। मार्केट की अच्छी तरीके से हुई रिसर्च बिजनेस में आपको नई ऊंचाइयों पर ले जा सकता है।

इस रिसर्च में ये देखा जाता है कि कस्टमर किन चीजों से ज्यादा अट्रैक्ट हो रहा है और किन चीजों से कस्टमर दूर जा रहा है। R&D मार्केट के Positive और Negative दोनों एस्पेक्ट पर अच्छी तरीके से किया जाता है। 

R&D थोड़ा रिस्की माना जाता है क्योंकि इसमें सक्सेसफुल होने की कोई गारंटी नहीं होती है। अगर आपके द्वारा की गई Research के बाद हुई Development लोगों को पसंद आती है तो आप मार्केट में sustain कर पाएंगे।

इस प्रकार की रिसर्च में बहुत ज्यादा पैसे लगते हैं और इसीलिए अपनी कंपनी के assets को देखकर ऐसे रिसर्च एंड डेवलपमेंट करनी चाहिए।

5. Operation and Management

R&D, Competitive Analysis करने के बाद जब आपका बिजनेस प्लान तैयार होता है तो उसको ग्राउंड पर execute करने का सबसे बड़ा चैलेंज होता है। 

Operation and management का सीधा सीधा मतलब होता है कि बनाई गई प्लानिंग को ग्राउंड में उतारकर प्रॉफिट कमाना। अगर आपके द्वारा बनाई गई strategy मार्केट में operational हो गई तो आप अपने Business Goal को पा सकते हैं।

किसी भी बिजनेस की प्लानिंग को सही तरीके से काम करने के लिए आपको टीम की जरूरत पड़ती है। इस टीम में आपको कुछ लोगों की जरूरत होगी जो Management का काम देखेंगे।

ज्यादातर बिजनेस को अकेले अपने दम पर सक्सेसफुल बनाना मुश्किल होता है, इसीलिए आपको team spirit में काम करना चाहिए। Business plan में कुछ credible और trusted लोगों की टीम बनाकर आप बिजनेस को मैनेज कर सकते हैं।

इस Management टीम में आप निचे दी गयी पोस्ट पर आपके हिसाब से लोगों को Recruit कर सकते है।

-Chief executive officer
-Executive head
-Logistic department
-Accountant
-Post of different management
-Cashier Post
-Parts manager
-Other employees

जब आपके बिजनेस में इन पोस्ट्स पर लोग काम करना शुरू करते हैं तो आपका बिजनेस ग्रो करता है। अपने employees को अपना परिवार मानकर चलें क्योंकि वे अपना 100% तभी देंगे जब उन्हें अपनापन महसूस होगा।

आपकी बिजनेस में काम कर रहे हर एक आदमी को ऐसा लगना चाहिए कि इस बिजनेस में उसका भी प्रॉफिट है तभी वह अपना पूरा effort लगाएगा।

बिजनेस में Inspection बहुत ज्यादा जरूरी होता है, आपको समय-समय पर अपने बिजनेस में हो रहे profit-loss को inspect करना चाहिए। बिजनेस में Inspection करके उस की कमियों को दूर करने का काम रुकना नहीं चाहिए। 

6. Accounting and finance

Business Plan को successful बनाने के लिए पैसों का सही तरीके से utilisation बहुत जरूरी है। हर एक कंपनी पैसे के दम पर ही चलती है, लेकिन बिजनेस की सही तरीके से accounting आपको कम finance में भी ज्यादा प्रॉफिट दे सकती है। 

अगर आपकी Accounting and finance की strategy अच्छी नहीं है तो आप legal law को भी वॉयलेट कर सकते हैं। Ex- सही समय पर टैक्स का ना भरना। इसमें छोटी कंपनी भी कई बार फंस जाती हैं।

इसीलिए इस काम के लिए कंपनी अच्छे accountant और financial experts को हायर करती हैं।

Accounting and finance से ही आप कंपनी में काम कर रहे सभी लोगों को समय पर सैलरी दे पाएंगे, कंपनी में हुए हर एक खर्चे का रिकॉर्ड रखना अच्छी बात है।

इससे आपको यह भी पता चलेगा कि कहीं कोई employee पैसा चुरा तो नहीं रहा है। एक अच्छे Business Plan में Accounting and finance पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है ताकि बाद में किसी परेशानी को face ना करना पड़े।

Also Read,

Conclusion

Business Plan को सक्सेसफुल बनाने के लिए आपको कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना होता है जो हमने आपको इस पोस्ट में बताया है। किसी भी बिजनेस को मार्केट में establish करने के लिए मार्केट की कंपटीशन और R&D बहुत ज्यादा जरूरी होता है। 

आप अगर इन Steps को follow करेंगे तो आपका बिज़नस भी जरुर सक्सेसफुल होगा।
एक अच्छा Business Plan kaise banaye? और business plan बनाने के लिए किन चीजों पर ध्यान देना चाहिए? इन सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जायेंगे। अपने बिज़नस पार्टनर से share करना मत भूलना |

All the Best!

Leave a Comment